बालकृष्ण भट्ट का जीवन-वृत्त और साहित्यिक परिचय

जुबान निबंध : बालकृष्ण भट्ट

बालकृष्ण भट्ट भारतेन्दु युगीन निबन्धकार हैं। डॉ. लक्ष्मी सागर वार्ष्णेय, डॉ. कृष्णलाल, धनंजय भट्ट ‘सरल’ तथा डॉ. धीरेन्द्र वर्मा, बालकृष्ण भट्ट को हिन्दी का प्रथम निबन्ध-लेखक स्वीकारने पर भी, भट्ट जी को ही प्रथम निबन्धकार माना है।

बालमुकुन्द गुप्त का जीवन एवं साहित्यिक परिचय

baalamukund gupt ka jeevan evan saahityik parichay deejie द्विवेदी युगीन निबंध को गंभीर चिन्तन की स्वतंत्र कला बनाने वाले लेखकों में लेखक बालमुकुन्द गुप्त सर्वश्रेष्ठ निबंधकार थे। उनका जन्म 1863 ई. में हुआ था। इनकी आरम्भिक शिक्षा का जहाँ तक संबंध है, उस संदर्भ में यह कहा जा सकता है उनकी शिक्षा उर्दू-फारसी में हुई […]

मेले का ऊँट निबन्ध की समीक्षा

meleka oount

निबन्ध के तत्त्वों के आधार पर ‘मेले का ऊँट’ निबन्ध की समीक्षा कीजिए। मेले का ऊँट निबन्ध की समीक्षा-> मेले का ऊँट’ बालमुकुन्द गुप्त का प्रसिद्ध निबन्ध है। बालमुकुन्द गुप्त के लेख और निबन्ध प्रायः ‘भारतमित्र’ पत्र में प्रकाशित होते थे। इन लेखों और निबन्धों में वे दैनिक जीवन से समस्याएँ और वृत्तों का चयन […]

‘मेले का ऊँट’ का प्रतिपाद्य

balmukund gupt nibandh

बालमुकुन्द गुप्त के लेख ‘मेले का ऊँट’ का प्रतिपाद्य ‘मेले का ऊँट’ का प्रतिपाद्य -> बालमुकुन्द गुप्त के प्रस्तुत निबंध में व्यंग्य एवं हास्य का पुट पाया जाता है। उन्होंने अपने समय के वातावरण तथा शासकों और प्रजा के बीच जिस तरह के संबंध रहे हैं उनका परोक्ष रूप में चित्रण किया है। वे पहचान […]

मेले का ऊँट निबन्ध का सार

balmukund gupt nibandh

निबन्ध का सार मेले का ऊँट निबन्ध का सार -> ‘मेले का ऊँट’ बालमुकुन्द गुप्त का प्रसिद्ध निबन्ध है। इस निबन्ध में उन्होंने ‘ऊँट’ की उपेक्षा और मारवाड़ियों के नवीन संस्कृति-प्रेम को वर्ण्य-विषय बनाया है। ‘भारतमित्र’ सम्पादक को लिखे अपने पत्र में लेखक उस पत्र में छपे ‘मोहन मेले’ लेख की आलोचना करते हुए कहता […]

जुबान निबंध का सारांश

जुबान निबंध : बालकृष्ण भट्ट

जुबान निबंध का सारांश : बालकृष्ण भट्ट जुबान निबंध का सारांश -> आधुनिक हिंदी साहित्य में निबंध-विधा के प्रवर्तक माने जाने वाले श्रेष्ठ निबंधकार बालकृष्ण भट्ट जी द्वारा रचित निबंध ज़बान’ को उनके उत्कृष्ट ललित निबंधों की श्रेणी में रखा जा सकता है | सन् १८९५ में प्रकाशित यह निबंध आज भी उतना ही प्रासंगिक […]

मेरे राम का मुकुट भीग रहा है “प्रतिपाद्य”

मेरे राम का मुकुट भीग रहा है

“मेरे राम का मुकुट भीग रहा है” निबंध का प्रतिपाद्य विद्यानिवास मिश्र का निबंध “मेरे राम का मुकुट भीग रहा है” -) मेरे राम का मुकुट भीग रहा हैं’ निबंध में मिश्र जी का मन राम के मुकुट भीगने की चिंता से व्यथित है। साथ ही लक्ष्मण का दुपट्टा और सीता की मांग के सिंदूर […]

DU Hindi previous year question paper

DU previous year question paper Hindi Nibandh Aur anya gadye vidhayein ( हिंदी निबंध और अन्य गद्य विधाएं ) DU Hindi previous year question paperप्रश्न पत्र 2018 हिंदी निबंध और अन्य गद्य विधाएं Nibandh Aur anya gadye vidhayein ( हिंदी निबंध और अन्य गद्य विधाएं ) प्रश्न पत्र 2019 हिंदी निबंध और अन्य गद्य विधाएं […]

DU Hindi previous year question paper

2018 DU का हिंदी आलोचना प्रश्न पत्र2018 DU Hindi Aalochana previous question paper DU previous year question paper previous year question paper2019 DU का हिंदी आलोचना प्रश्न पत्र2019 DU Hindi Aalochana previous question paper previous year question paper 2020 DU का हिंदी आलोचना प्रश्न पत्र previous year question paper -> पाश्चात्य काव्यशास्त्र

भारतीय स्वतंत्रता के प्रमुख नारे

भारतीय स्वतंत्रता के प्रमुख नारे

भारतीय स्वतंत्रता के प्रमुख नारे- भारतीय स्वतन्त्रता संग्राम में कई ऐसी घटनाएं हुईं जब भूखे, नंगे और निहत्थे लोगों की भीड़ ने देशभक्ति की तरंग में सराबोर होकर भारत छोड़ो’ और ‘करो या मरो’ के नारे लगाते हुए न केवल तार और टेलीफोन के सम्पर्क छिन्न-भिन्न कर दिए वरन् पुलिस स्टेशनों तक पर अधिकार जमा […]

DU previous year question paper

DU Admissions 2020

question paper 2017 Pashchatya Kavyashastra previous year question paper, du paper, sem 5 DU previous year question paper 2018 du previous question paper, Pashchatya Kavyashastra previous year question paper, du paper, sem 5 du previous year question paper, Pashchatya Kavyashastra sem 5, sem 5 du previous year question paper, Hindi du previous year question paper, […]