मेरे राम का मुकुट भीग रहा है “प्रतिपाद्य”

मेरे राम का मुकुट भीग रहा है

“मेरे राम का मुकुट भीग रहा है” निबंध का प्रतिपाद्य विद्यानिवास मिश्र का निबंध “मेरे राम का मुकुट भीग रहा है” -) मेरे राम का मुकुट भीग रहा हैं’ निबंध में मिश्र जी का मन राम के मुकुट भीगने की चिंता से व्यथित है। साथ ही लक्ष्मण का दुपट्टा और सीता की मांग के सिंदूर … Read more